e-एजेंडाः अमित शाह बोले-कोरोना के बाद की दुनिया में आत्मनिर्भर भारत का रोल अहम – E agenda aaj tak modi govt 2 0 1 year amit shah india role important world after covid 19

  • हम आत्मनिर्भर भारत बनने में सफल होंगेः शाह
  • ‘कोरोना के खिलाफ जंग में सबका सहयोग मिला’

नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरा होने पर आयोजित आजतक के खास कार्यक्रम e-एजेंडा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ‘मोदी 2.0 का एक साल’ सत्र में कहा कि कोरोना संकट के बाद की दुनिया में आत्मनिर्भर भारत का रोल अहम होगा. हम आत्मनिर्भर भारत बनने में सफल होंगे.

अमित शाह ने कहा कि कोरोना संकट के बीच हमें सावधानी के साथ आर्थिक गतिविधियों को आगे बढ़ाना होगा. हम आत्मनिर्भर भारत बनने में सफल होंगे. लॉकडाउन के दौरान पिछले दिनों पीएम मोदी ने भारत को आत्मनिर्भर भारत बनाने का आह्वान किया था.

हमने ठीक से लड़ी लड़ाईः शाह

e-एजेंडा में गृह मंत्री शाह ने कहा कि कोरोना के खिलाफ हमने लड़ाई ठीक से लड़ी है. भारत की जनता नरेंद्र मोदी की अपील के साथ खड़ी नहीं होती, उनका सहयोग नहीं होता तो यह लड़ाई हम अच्छे से नहीं लड़ सकते थे. सभी राज्यों और देश की जनता से इस लड़ाई में पूरा सहयोग मिला है.

इसे भी पढ़ें — e-एजेंडाः कांग्रेस के 60 साल की तुलना में हमारे 6 साल का पलड़ा भारी- अमित शाह

e-एजेंडा में ‘मोदी 2.0 का एक साल’ सत्र में कोरोना संकट की लड़ाई में राज्यों के सहयोग का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि हर राज्य ने कोरोना से लड़ाई लड़ी है और लड़ भी रहा है. इसको आंकड़े की दृष्टि से देखना ठीक नहीं होगा कि कोई राज्य सफल हो गया और कोई असफल रह गया.

उन्होंने आगे कहा कि यह लड़ाई केंद्र सरकार को लड़नी पड़ेगी, देश की जनता को लड़नी पड़ेगी और राज्य सरकारों को भी लड़नी पड़ेगी. और मैं मानता हूं कि जिससे जो बन पड़ा हर मामले में सबने अच्छा किया है.

इसे भी पढ़ें — हर बार सरकारें महामारी से लड़ती थी, इस बार जनता लड़ रहीः शाह

e-एजेंडा कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार की उपलब्धियों के बारे में कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीते 6 साल से देश आगे बढ़ रहा है. 2014 में तीन बिंदुओं पर काम शुरू किया गया. सबसे पहले 60 करोड़ गरीबों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए काम शुरू किया गया, दूसरा देश के अर्थतंत्र को मजबूत करने के लिए 5 ट्रिलियन डॉलर का लक्ष्य रखा गया और तीसरा देश की आतंरिक और बाहरी सुरक्षा को मजबूत करने पर बल दिया गया. पीएम मोदी के नेतृत्व में पिछले छह साल देश के लिए परिवर्तनकारी रहे हैं.

अमित शाह ने पिछले एक साल में सरकार की उपलब्धियों के बारे में कहा, ‘यह भारत को विकास की पटरी पर पहुंचाने वाला साल रहा. आज चाहे अर्थव्यवस्था पर चर्चा हो या कूटनीति पर, भारत के पीएम क्या बोलते हैं, इसे पूरी दुनिया देखती है. भारत के छोटे किसानों, उद्यमियों के हित में कड़ा फैसला लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने RCEP से बाहर रहने का फैसला लिया.’

चीन से सीमा पर बने तनाव को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सीमाओं की सुरक्षा और देश के सामरिक हितों पर मोदी सरकार कभी कोई समझौता नहीं करेगी. चीन से विवाद के समाधान के बारे में उन्होंने कहा कि हम दोनों मोर्चों पर काम कर रहे हैं. कूटनीतिक स्तर पर भी और सैन्य स्तर पर भी. बातचीत में भारतीय हितों पर ही बात होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment