e-एजेंडा: लॉकडाउन पर विपक्ष ने उठाए सवाल, अमित शाह बोले- ये वक्रदृष्टा लोग हैं – E agenda aaj tak 1 year narendra modi govt 2 0 home minister amit shah

  • मोदी सरकार 2.0 का एक साल, आजतक पर e-एजेंडा कार्यक्रम का आयोजन
  • e-एजेंडा आजतक के मंच पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी शिरकत की

मोदी सरकार 2.0 का एक साल पूरा हो चुका है. इस मौके पर आयोजित आजतक के खास कार्यक्रम e-एजेंडा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी शिरकत की. अमित शाह ने e-एजेंडा आजतक के ‘मोदी 2.O का एक साल’ सत्र में भाग लिया और अपनी राय रखी. केंद्रीय गृह मंत्री ने इस मौके पर मोदी सरकार के कामों की तारीफ तो की ही साथ ही साथ विपक्षियों के हर आरोप का जवाब भी दिया.

अपने सत्र में मोदी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि 2014 में जो यात्रा शुरू हुई उसने तीन बिंदुओं पर भारत को बहुत आगे लाकर खड़ा कर दिया है. सबसे पहले 60 करोड़ गरीब, दलित, आदिवासी परिवारों के जीवन स्तर को उठाने का प्रयास किया गया. दूसरी बात इतने बड़े देश के अर्थतंत्र को एक ही धारा में लाने का काम इसी 6 साल में किया गया और 5 ट्रिलियन इकोनॉमी का लक्ष्य रखकर हम आगे बढ़ रहे हैं. तीसरी बात भारत की रक्षा, भारत की सीमाओं की सुरक्षा और भारत के गौरव इन तीनों को सुदृढ़ करते हुए भारत को गौरवशाली बनाने का प्रयास किया गया.

यह भी पढ़ें: योगी बोले- 30 लाख मजदूर यूपी लौटे, सबको राज्य में ही काम देने का लक्ष्य

अमित शाह ने आगे कहा कि लगभग 36 करोड़ लोगों के खाते खोले गए. लगभग ढाई करोड़ लोगों को घर दिया गया. 10 करोड़ से ज्यादा लोगों के घर में बिजली पहुंचाई गई. 10 करोड़ घरों के अंदर शौचालय पहुंचाया गया. 50 करोड़ देशवासियों को आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख तक का पूरा स्वास्थ्य का खर्चा भारत सरकार की तरफ से देने की योजना लेकर आए जिसका फायदा करोड़ों लोग उठा चुके हैं. इस प्रकार से गरीब के अंदर नई आशा की किरण जगाने की कोशिश की गई है. इसके साथ ही सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक जैसी कदम भी उठाए गए जिससे दुनिया भर में भारत की साख बनी कि भारत की सीमाओं को कोई छू नहीं सकता.

अमित शाह ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी सरकार 2.0 की शुरुआत जल शक्ति मंत्रालय के गठन के साथ हुई. इसके जरिए भारत के हर नागरिक को 2022 तक शुद्ध पानी पहुंचाएंगे. 60 करोड़ गरीबों के जीवन स्तर को उठाने का प्रयास किया गया. सीडीएस के पद का सृजन किया गया. आत्मनिर्भर भारत का नारा दिया गया. भारत के अर्थतंत्र को मजबूती देने के लिए कई कदम इस एक साल में उठाए गए. मोदी सरकार के यह 6 साल भारत को दुनिया के सामने प्रस्थापित करने में काफी गौरवपूर्ण रहा है. आज भारत के प्रधानमंत्री क्या बोलते हैं इस पर पूरे दुनिया की नजर रहती है.

यह भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ ने बताया- दिल्ली से क्यों सील है गाजियाबाद-नोएडा के बॉर्डर

बातचीत के दौरान देश के गृह मंत्री ने राज्य सरकारों की तारीफ भी की. उन्होंने कहा कि आज तक जब भी कोई महामारी या आपदा आई हर बार सरकारों ने लड़ाई लड़ी है. लेकिन इस बार एक परिवर्तन नजर आया वह यह था कि हर बार सरकार लड़ती थी इस बार पूरा देश लड़ा है. एक राष्ट्र एक मन जैसी छवि पहली बार दिखी है. मोदी जी ने देश को जोड़कर कोरोना की लड़ाई लड़ी है. सभी पार्टियों और राज्य सरकारों ने भी बेहतर सहयोग किया.

विरोधियों से जुड़े सवाल पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि वक्रदृष्टा लोगों को साइड में रख दीजिए. यह राज्य का फेडरल स्ट्रक्टर है. पूरे देश में अलग-अलग पार्टियों की सरकारें हैं ऐसा तो नहीं है कि पूरे देश में सिर्फ बीजेपी की सरकार बनी है. अलग-अलग राज्य सरकारें हैं, अलग-अलग दलों की सरकारें हैं. ये बात सही है कि सभी राज्य सरकारों ने इस लड़ाई को अच्छे से लड़ा है. अब चूंकि मोदी जी इस देश के प्रधानमंत्री हैं और उन्होंने इस लड़ाई को बहुत ही संवेदनशीलता के साथ और बहुत ही योजनाबद्ध तरीके से लड़ा है इसीलिए देश की 130 करोड़ जनता उनके साथ है.

यह भी पढ़ें: प्रियंका पर अखिलेश का वार- पंजाब और राजस्थान के छात्रों को क्यों नहीं मिली बस?

विपक्ष के अनियोजित लॉकडाउन की टिप्पणी पर अमित शाह ने कहा कि कुछ वक्रदृष्टा लोगों को छोड़कर बाकी सभी ने इसे सराहा है. इसी वजह से देश की 130 करोड़ जनता मोदी जी के साथ खड़ी है. आंकड़े बताते हैं कि हम विश्व की तुलना में बेहतर तरीके से लड़े हैं. और हम आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में भी जरूर सफल होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment