e-एजेंडा: रामलला के दर्शन पर बोले अखिलेश- मैं विष्णु का भक्त, राम-कृष्ण उन्हीं के अवतार – E agenda aajtak 1 year modi govt 2 0 akhilesh yadav on ram mandir krishna vishnu ayodhya tpt

  • अयोध्या के फैसले का सभी ने स्वागत किया है- अखिलेश
  • ‘राम-कृष्ण एक और भगवान विष्णु के अवतार हैं’

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के बाद भगवान रामलला के दर्शन करने जाने के सवाल पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा,’मैं भगवान विष्णु को मानता हूं. राम व कृष्ण दोनों भगवान विष्णु के अवतार हैं. हमारे यहां विष्णु के सभी अवतार को माना जाता है और उनकी पूजा होती है. राम और कृष्ण एक हैं हम उन्हें अलग-अलग नहीं मानते हैं.’

अखिलेश यादव ने कहा कि राम मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला जो आया, सभी ने उसका स्वागत किया था. सपा, कांग्रेस और बीजेपी किसी ने भी कोर्ट के फैसले के खिलाफ किसी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की है. भगवान विष्णु के सभी अवतार को हम मानते हैं और सभी की पूजा करते हैं. जहां तक मेरा सवाल है तो राम ही कृष्ण हैं और कृष्ण ही राम है. हालांकि, अखिलेश यादव ने अयोध्या जाने को लेकर सीधा कोई जवाब नहीं दिया और उन्होंने राम-कृष्ण को भगवान विष्णु का अवतार बताकर सवाल को टाल गए.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी धार्मिक और इमोशनल मुद्दों को उठाकर मुख्य मुद्दों से लोगों के ध्यान को भटकाने का काम करती है. मौजूदा समय में सबसे बड़ा सवाल लोगों के रोजगार का है और देश की अर्थव्यवस्था को बचाने का है. इसे लेकर बीजेपी सरकार गंभीर नहीं है. योगी सरकार को बताना चाहिए कि यूपी में किसान, मजदूरों और गरीबों के रोजगार के लिए क्या कर रहे हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि डिंपल यादव और उनके साथ कार्यकर्ता लोगों की मदद कर रहे हैं. लॉकडाउन में लाल टोपी पहनकर और अखिलेश यादव बनकर पिछले 50 दिन से सपा के कार्यकर्ता लोगों को खाना खिला रहे हैं. सरकार के पास खजाना और बजट है उसे अभी खर्च नहीं किया गया है. सरकार को चाहिए कि वो गरीब जनता को भोजन उपलब्ध कराए और लोगों को आर्थिक मदद सीधे भेजे या फिर हाथ से मदद पहुंचे. उद्योगों को शुरू करने की दिशा में काम करे ताकि लोगों को रोजगार मिल सके.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

अखिलेश ने कहा कि भारत की जनता काढ़ा और च्यवनप्राश पहले से ही लेती रही हैं. सरकार के पास सभी के आंकड़े उपलब्ध हैं और ऐसे में अगर सरकार से हमारा सुझाव है कि काढ़ा और च्यवनप्राश जनता को मुफ्त में उपलब्ध कराना चाहिए.

बता दें कि मोदी सरकार 2.0 को सत्ता पर काबिज हुए एक साल पूरा होने के मौके पर आजतक ई-एजेंडा के मंच पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता शामिल हुए. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर एक तरफ जहां दिग्गज मंत्री कामकाज का लेखा-जोखा दे रहे हैं तो वहीं विपक्ष के नेता भी अपनी राय रख रहे हैं. ई-एजेंडा आजतक के कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी समेत सरकार के कई चेहरों ने अपनी बात रखी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment