दिल्ली सरकार का फैसला- होटलों में भी रखे जा सकेंगे कोरोना मरीज – Delhi aap government cm arvind kejriwal private hotel hospital coronavirus covid 19 health update

  • प्राइवेट अस्पतालों के साथ प्राइवेट होटल अटैच
  • तबीयत बिगड़ने पर मरीजों को भर्ती करेंगे अस्पताल

दिल्ली सरकार ने बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मरीजों के लिए बेडों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए दिल्ली के पांच होटलों को 5 प्रवाइवेट अस्पतालों के साथ अटैच कर दिया है. प्राइवेट अस्पतालों का ये सभी होटल हिस्सा होंगे.

ओखला फेस-1में स्थित होटल क्राउन प्लाजा, बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर का हिस्सा होगा. न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित होटल सूर्या इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल का हिस्सा होगा. राजेंद्र प्लेस स्थित होटल सिद्धार्थ को डॉक्टर बीएल कपूर मेरोरियल अस्पताल का हिस्सा बनाया गया है.

पूसा रोड स्थिति होटल जीवितेश को सर गंगा राम सिटी हॉस्पिटल को सौंपा गया है. साकेत स्थित होटल शेरेटन को मैक्स स्मार्ट सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का हिस्सा बनाया गया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

जिन अस्पतालों के साथ इन होटलों को अटैच किया गया है वे हॉस्पिटल कोरोना के साधारण मरीजों को इन होटलों में एडमिट कर सकते हैं. अगर मरीज की हालत गंभीर हो जाए तो मेन हॉस्पिटल में मरीज को भर्ती करना होगा.

जो होटल, हॉस्पिटल में तब्दील हुए हैं, उनके रेट कुछ इस तरह से होंगे-

1. फाइल स्टार होटल के लिए अधिकतम किराया 5 हजार बेड प्रति दिन.

2. चार और तीन सितारा होटल के लिए 4 हजार बेड प्रति दिन.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

यह पैसा होटल को जाएगा. होटल वे सभी सेवाएं और सुविधाएं मरीज को देंगे जो वो देते हैं. मरीजों के खाना होटल की जिम्मेदारी होगी. कमरे के साफ-सफाई की जिम्मेदारी भी होटल की ही होगी.

जो हॉस्पिटल अपनी सेवाएं इन होटलों में मरीज को देंगे वे अधिकतम 5 हजार ही प्रतिव्यक्ति हर दिन ले सकते हैं. इस रकम में PPE किट, मास्क, डॉक्टर और नर्स, सब का खर्च शामिल है. अगर मरीज को ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जाता है तो 2 हजार प्रति बेड अलग से चार्ज लिया जाएगा.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

संक्रमण ज्यादा बढ़ने पर मरीज को होटल की जगह हॉस्पिटल में शिफ्ट किया जाएगा. हॉस्पिटल अपने रेट के हिसाब से मरीजों से चार्ज ले सकेंगे. अगर होटल चाहें तो अपने स्टाफ को भी इन होटलों में ठहरा सकते हैं, लेकिन यह खर्च अस्पताल को खुद वहन करना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment