3840 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें अब तक चलीं, 52 लाख लोगों ने की यात्रा: रेलवे – Railway ministry press conference corona lockdown

चीन के वुहान शहर से पूरी दुनिया में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार भारत में रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था. जिसके बाद देश में सभी लोग घरों में कैद हो गए थे. सारी यातायात सुविधाएं भी स्थगित कर दी गई थीं. हालांकि बाद में रेलवे ने कुछ स्पेशल ट्रेनें चलाईं ताकि लॉकडाउन में दूसरे राज्यों में फंसे लोग अपने घरों तक पहुंच सकें. रेलवे की ओर से कहा गया है कि 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलनी शुरू हुई थीं. श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए रेलवे ये ट्रेन चला रही है. अब तक 3840 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चल चुकी हैं.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलनी शुरू हुई थीं. श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए रेलवे ये ट्रेन चला रही है. अब तक 3840 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चल चुकी हैं. और करीब 52 लाख यात्री यात्रा कर चुके हैं. पिछले एक हफ्ते का औसत देखें तो 1524 श्रमिक स्पेशल ट्रेन और करीब 20 लाख पैसेंजर यात्रा किए हैं.

विनोद कुमार यादव ने कहा कि पिछला जो एक हफ्ता था उसमें हमने 3 लाख प्रतिदिन के हिसाब से प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाया. उन्होंने कहा कि जिस भी राज्य से जो भी डिमांड आ रही है उस हिसाब ट्रेनें हम दे रहे हैं.

विनोद कुमार यादव ने कहा कि कल 137 ट्रेनें चली हैं. और बुधवार को 172 ट्रेनें चली हैं. इस दौरान रेलवे ने 279 ट्रेनें चलाई हैं. पिछले दो दिनों से ये संख्या घट रही है. 24 मई को हमने सभी राज्य सरकारों से बात करके उनका जरूरतें ली थी. तब 923 ट्रेनों की जरूरत थी. कल हमने फिर राज्यों से उनकी जरूरतों पूछी और वो केवल 449 ट्रेनों का है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment