अमित शाह की बैठक में बोले छत्तीसगढ़ के CM- ना खोली जाएं राज्यों की सीमा – Coronavirus lockdown home minister amit shah chhattisgarh cm bhupesh baghel train

  • सीएम भूपेश बघेल ने की ऋण शर्तों को सुगम बनाने की मांग
  • रेल, विमान सेवा को लेकर मुख्यमंत्रियों की राय पर हो विचार

कोरोना वायरस की महामारी के कारण देश में लागू लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है. इसके बाद सरकार की क्या रणनीति हो, इस पर शुरुआती चार चरणों में अग्रिम मोर्चे पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे. पीएम मोदी ने हर बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उनकी राय जानी और हालात की जानकारी ली.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

चौथे चरण की समाप्ति से पहले अब गृह मंत्री अमित शाह ने मोर्चा संभाल लिया है. गृह मंत्री शाह ने 28 मई को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की. आगे की रणनीति तय करने के संबंध में हुई इस बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना रुख साफ करते हुए कहा कि राज्यों की सीमाएं नहीं खोली जानी चाहिए.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार भूपेश बघेल ने यह भी अनुरोध किया कि रेल परिचालन और विमान सेवा को लेकर मुख्यमंत्रियों की राय पर भी विचार करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि आर्थिक पैकेज के तहत राज्यों के लिए कर्ज लेने की शर्तों को सुगम बनाया जाना चाहिए. गौरतलब है कि विमान सेवाएं शुरू होने से पहले भी बघेल ने केंद्र को पत्र लिखकर कुछ सुझाव दिए थे और यात्रियों की पूरी जानकारी राज्यों को देने की मांग की थी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

बता दें कि कोरोना वायरस की बीमारी से पीड़ित मरीजों की तादाद लगातार बढ़ रही है. पिछले 5 दिन से हर रोज कोरोना के 6000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं. कर्नाटक ने विमानन मंत्रालय से कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों से आने वाली फ्लाइट्स की संख्या घटाने का अनुरोध किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment