यूपी: जमीन में दफन, एक पैर बाहर, मिट्टी हटाई तो निकला जिंदा नवजात – Up siddharthnagar baby found from mud saved by people police tstn

  • ग्रामीणों ने कराया बच्चे को अस्पताल मे भर्ती
  • बच्चा को गोद लेने के लिए तैयार है एक परिवार

उत्तर प्रदेश से सनसनीखेज मामला सामने आया है. सिद्धार्थ नगर के एक ग्रामीण इलाके में निर्माण कार्य चल रहा था तभी वहां कुछ लोगों को एक बच्चे की रोने की आवाज सुनाई देने लगी. जब लोगों ने आसपास देखना शुरू किया तो उन्हें एक नवजात बच्चा मिट्टी में दबा मिला जिसका एक पैर बाहर था. जिसके बाद इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई.

ये पूरा मामला है सिद्धार्थनगर जिले के जोगिया क्षेत्र के निपनिया गांव का है. गांव के ही एक इलाके में निर्माण का कार्य चल रहा था. लोगों का कहना है कि उन्होंने एक बच्चे के रोने की आवाज़ सुनी थी. जल्द ही, उन लोगों ने उस दिशा में ढूढ़ना शुरू किया. तभी उन लोगों की नजर मिट्टी और रेत के टीले पर पड़ी. उन्होंने देखा कि एक नवजात शिशु का पैर मिट्टी से बाहर निकला हुआ है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

लोगों ने नवजात शिशु को मिट्टी के ढेर से तुंरत बाहर निकाला. जिसके बाद ग्रामीणों ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस और ग्रामीणों ने तुरंत ही मिट्टी में दबे मिले नवजात शिशु को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जोगिया पहुंचाया. जहां पर चिकित्सा टीम ने शिशु की साफ सफाई की साथ ही उसकी संक्रमण की भी जांच की. गांव वालों का कहना है कि बच्चा तीन दिन पहले ईद के दिन मिला था जिसका लाइव वीडियो भी अब सामने आया है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी मानवेन्द्र पाल ने बताया कि बच्चा स्वस्थ है. नवजात शिशु की हालत स्थिर है. लेकिन हो सकता है कि उसने कुछ मिट्टी निगल ली हो इसके लिए इलाज जारी है. उन्होंने यह भी कहा कि गांव की रहने वाली लक्ष्मी बच्चे को गोद लेने की बात कह रही हैं. उन्हें चाइल्ड लाइन एवं पुलिस द्वारा प्रक्रिया के अनुसार संयुक्त रूप से लिखापढ़ी कर नवजात शिशु को उन्हें सौंपा जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment