भीमा कोरेगांव: दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा- नवलखा को मुंबई भेजने में NIA ने दिखाई जल्दबाजी – Bhima koregaon case delhi high court nia transferring gautam navlakha delhi mumbai

  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी पर दिल्ली हाईकोर्ट ने उठाए सवाल
  • 22 जून तक के लिए न्यायिक हिरासत गौतम नवलखा

दिल्ली हाईकोर्ट ने भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में आरोपी एक्टिविस्ट गौतम नवलखा को मुंबई स्थानांतरित करने के लिए एनआईए पर सवाल उठाए हैं. दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इसमें काफी जल्दबाजी दिखाई है.

यह भी पढ़ें: भीमा कोरेगांव केस: आरोपी प्रोफेसर आनंद तेलतुंबडे ने NIA के सामने किया सरेंडर

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आरोपी सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नवलखा को दिल्ली से मुंबई ले जाने में बेवजह जल्दबाजी की है, जबकि यह मामला लंबित था. दरअसल, हाल ही में विशेष एनआईए अदालत ने 22 जून तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. विशेष एनआईए कोर्ट ने 22 जून तक मुंबई के पास स्थित तलोजा जेल में नवलखा को भेज दिया है.

यह भी पढ़ें: गौतम नवलखा ने मांगी जमानत, दिल्ली हाई कोर्ट ने NIA को भेजा नोटिस

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिलने के कारण अप्रैल के महीने में नवलखा ने एनआईए के आगे आत्मसमर्पण कर दिया था. नवलखा को सुप्रीम कोर्ट ने आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया था. इसके बाद नवलखा को तिहाड़ जेल में रखा गया था.

यूएपीए के तहत मामला दर्ज

हालांकि बाद में गौतम नवलखा को मुंबई भेजा गया. नवलखा पर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया था. उन्हें 2018 के भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में कथित संलिप्तता को लेकर अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत आरोपी बनाया गया है.

बता दें कि गौतम नवलखा उन पांच मानवाधिकार कायकर्ताओं में से एक हैं, जिन्हें माओवादियों के साथ कथित संबंधों और भीमा कोरेगांव हिंसा में उनकी कथित संलिप्तता को लेकर गिरफ्तार किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment