महाराष्ट्र विकास अघाड़ी का पलटवार, कहा- फडणवीस कोरोना से लड़ने वालों का गिरा रहे मनोबल – Jayant patil ncp balsaheb thorat congress anil parab from shiv sena coronavirus lockdown devendra fadnavis maharashtra

  • शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी ने किया पलटवार
  • महाराष्ट्र की गतल तस्वीर दिखा रहे फडणवीस

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार की घेराबंदी करने पर कांग्रेस, शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी यानी महाराष्ट्र विकास अघाड़ी ने पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस पर पलटवार किया है. तीनों दलों ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा और कोरोना संकट में राजनीति से हटकर काम करने का आह्वान किया.

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता बाला साहेब थोराट ने कहा कि महाराष्ट्र में प्रवासी श्रमिकों की संख्या सबसे अधिक है. देश की अर्थव्यवस्था का 35 प्रतिशत महाराष्ट्र से आता है. महाराष्ट्र सरकार ने ट्रेन टिकट, भोजन, परिवहन से लेकर प्रवासी श्रमिकों के लिए सब कुछ किया. मुंबई की स्थिति चिंताजनक है. लेकिन हम अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं. हमें विपक्ष से सहयोग चाहिए. हालांकि विपक्ष के पास सरकार के खिलाफ सिर्फ गेम प्लान है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

शिवसेना के अनिल परब ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस किया जिसका हम जवाब दे रहे हैं. अगर देवेंद्र फडणवीस केंद्र सरकार से महाराष्ट्र के लिए कुछ मदद लेकर आते तो हम उनकी निश्चित तारीफ करते. फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र को गेहूं दिया जाता है. मैं बता दूं कि महाराष्ट्र को केंद्र सरकार से कोई गेहूं नहीं मिला है. महाराष्ट्र को कोई विशेष मदद नहीं मिली है.

स्पेशन ट्रेन मुहैया कराने के मुद्दे पर गठबंधन के दलों ने प्रतिक्रिया दी. शिवसेना के अनिल परब ने कहा, ‘महाराष्ट्र से 600 ट्रेनें प्रवासी श्रमिकों के लिए रवाना हुई हैं. ट्रेनों का पैसा महाराष्ट्र सरकार दे रही है. पश्चिम बंगाल के लिए हमने पूरे सप्ताह के लिए 48 ट्रेनें मांगी थीं. अब उन्होंने (रेलवे) एक दिन में 43 गाड़ियां भेजीं. पश्चिम बंगाल सरकार ने खुद कहा था कि प्रति दिन केवल दो गाड़ियां भेजी जाएं. इस तरह केंद्र सरकार मूर्ख बना रही है और हमें बदनाम करने की कोशिश कर रही है.’

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

शिवसेना नेता ने कहा कि ट्रेनें निर्धारित समय पर नहीं चल रही हैं. रेलवे को हमें एक दिन पहले सूचित करना चाहिए लेकिन ट्रेन छूटने के सिर्फ एक घंटे पहले वो हमें सूचित करते हैं. यह जानबूझकर किया जा रहा है. इससे स्टेशन पर दहशत और भीड़ पैदा हो रही है. वहीं गुजरात ऐसा छोटा है लेकिन गुजरात को 1500 ट्रेनें दी गई हैं जबकि महाराष्ट्र को केवल 700 ट्रेनें मिली हैं. यही अंतर है.

अलिन परब ने कहा कि हम 42 हजार करोड़ की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन हमें अपना (महाराष्ट्र का हिस्सा) पैसा नहीं मिला. 18 हजार 200 करोड़ हमारा पैसा है जो केंद्र ने वापस नहीं किया. केंद्र सरकार ने कहा कि वो पीपीई किट और एन 95 मास्क देगी लेकिन हमें इसके लिए भुगतान करना होगा. हम जो कर रहे हैं, हम अभी भी उसी के लिए भुगतान कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि अगर चीन के वुहान में 15 दिन में अस्पताल बना दिया जाता है तो वे उनकी तारीफ करते हैं लेकिन मुंबई में ऐसा हो रहा है. कोरोना मरीजों के लिए इतनी सुविधा दिए जाने के बावजूद कोई बात नहीं करता है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

वहीं शिवसेना के जयंत पाटिल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में मुंबई और महाराष्ट्र में हालात खराब हुए हैं. मुंबई के लिए बहुत काम किया जा रहा है. 2 अप्रैल को 420 मामले आए थे. अप्रैल के अंत तक भविष्यवाणी की गई थी कि एक लाख से अधिक मामले होंगे लेकिन दस हजार मामले पाए गए. सरकार के काम की वजह से ऐसा हुआ. एक विशेष टास्क फोर्स बनाया गया. महाराष्ट्र के लोगों से अपील है कि वो घबराएं नहीं. महाराष्ट्र में कोरोना के 35 हजार एक्टिव मामले हैं. हम मृत्यु दर और रेट डबलिंग दर को नियंत्रित करने में कामयाब रहे हैं. कोरोना अस्पताल बना रहे हैं.

जयंत पाटिल ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. मुझे लगा कि वह महाराष्ट्र के बारे में चिंतित होंगे लेकिन दुर्भाग्य से उन्होंने झूठी तस्वीर पेश की. वह कोरोना वायरस से लड़ने वाले लोगों का मनोबल गिराने की कोशिश कर रहे हैं. जयंत पाटिल ने यह भी कहा कि पीयूष गोयल ने कहा कि उन्होंने रेलवे टिकट के लिए भुगतान किया है. लेकिन बता दें कि सारा पैसा महाराष्ट्र सरकार ने दिया है. हमें कोई नया पैसा नहीं मिला है. भाजपा महाराष्ट्र की दुश्मन है?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Related posts

Leave a Comment